apanabihar.com 28

देश में करोड़ों लोग ऐसे हैं जो नौकरीपेशा (Salaried) हैं लेकिन उनके पास पेंशन (Pension) पाने का कोई साधन नहीं है तो ऐसे लोगों के लिए केंद्र सरकार द्वारा चलाई जा रही कुछ योजनाओं (Government Scheme) में निवेश करने का अच्छा ऑप्शन मिल रहा है. अटल पेंशन योजना (एपीवाई- APY) असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों के लिए एक शानदार पेंशन योजना है. अगर आपने मोदी सरकार ( Modi Government) की पति पत्नी को एक साथ 10,000 रुपये से ज्यादा पेंशन देने वाली सरकारी पेंशन स्कीम ( Government Pension Scheme) अटल पेंशन योजना (Atal Pension Yojna) में एनरोलमेंट कराया है या नहीं. अगर नहीं कराया है तो जल्द करा लें. 2021-22 वित्तीय साल में अटल पेंशन योजना ( Atal Pension Yojna) के साथ 65 लाख लोग जुड़ चुके हैं और अपने भविष्य को सुरक्षित बना चुके हैं. अटल पेंशन योजना ( Atal Pension Yojna) के लॉन्च होने के बाद एक वित्त वर्ष के इस अवधि में इतने लोगों का एनरोलमेंट अब तक का सबसे बेहतरीन आंकड़ा है. 

Also read: बिहार के इस जिले से चलेगी दिल्ली, हावड़ा और बांद्रा के लिए स्पेशल ट्रेन, देखें लिस्ट

अटल पेंशन योजना के साथ 3.68 करोड़ लोग जुड़े : आपको बता दे की 2015 में मोदी सरकार ने अटल पेंशन योजना को लॉन्च किया था और साढ़े छह सालों में 3.68 करोड़ लोग अटल पेंशन योजना में एनरोलमेंट करा चुके हैं. अटल पेंशन योजना में एनरोलमेंट की सबसे बड़ी खासियत ये है कि पुरुषों महिलाओं का सब्सक्रिप्शन का अनुपात 56:44 है. और इसमें लगातार सुधार देखा जा रहा है. अटल पेंशन योजना के तहत 20,000 करोड़ रुपये के एसेट को मैनेज किया जा रहा है. 

खास बात यह है की अटल पेंशन योजना ( Atal Pension Yojna) मोदी सरकार ( Modi Government) की महत्कांक्षी योजना है जिसे 9 मई 2015 को वृद्धा अवस्था में सुरक्षित आय की सुविधा प्रदान करने के लिए शुरू किया गया था. Pension Fund Regulatory and Development Authority (PFRDA) पीएफआरडीए के चेयरमैन सुप्रतिम बंदोपाध्याय ने कहा है कि इस वित्त वर्ष में एक करोड़ लोगों को इस योजना के साथ जोड़ने का लक्ष्य है. और आने वाले समय में पेंशन सभी तक पहुंचाने का काम किया जाएगा और इस दिशा में लगातार प्रयास किया जा रहा है.  


क्या है आवेदन के नियम : मीडिया रिपोर्ट की माने तो अटल पेंशन योजना के में 18 से 40 साल के उम्र के लोग सब्सक्राइब कर सकते हैं. आवेदक के पास बैंक अकाउंट होना चाहिए. इस योजना में 60 साल के उम्र के बाद 1,000 रुपये से लेकर 5,000 रुपये तक न्यूनत्तम पेंशन का प्रावधान है. अगर योजना के सब्सक्राइबर की मृत्यु हो जाती है तो पति-पत्नी को आजीवन पेंशन मिलता रहेगा. और यदि दोनों की मृत्यु हो जाती है तो पेंशन का पूरा पैसा नॉमिनी को दे दिया जाएगा. 

Raushan Kumar is known for his fearless and bold journalism. Along with this, Raushan Kumar is also the Editor in Chief of apanabihar.com. Who has been contributing in the field of journalism for almost 4 years.