apanabihar 9 23

बिहार (Bihar) के लोगों के लिए हवाई जहाज में सफर करना एक सपना हुआ करता था. लेकिन ये अब बीते दिनों की बात हो गई है. आज बिहार के कई बड़े शहरों से हवाई सेवा चल रही है. अब बिहार में जल्द ही हवाई क्रांति होने जा रही है. ये वो खबर है जिसका बिहार के लोग दशकों से इंतजार कर रहे हैं. केंद्र सरकार की उड़ान योजना के तहत बिहार एविएशन (Aviation Sector) के क्षेत्र में तरक्की कर रहा है. लेकिन अभी भी कई शहरों में हवाई कनेक्टिविटी नहीं है. इसके लिए केंद्र सरकार ने नई योजना बनाई है. बिहार में हवाई सेवाओं (Air Connectivity) के विस्तार के लिए नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने सीएम नीतीश कुमार को पत्र लिखा है. पत्र में राज्य में एविएशन इंफ्रास्ट्रक्चर को मजबूत करने की बात कही गई है.

बताया जा रहा है की केंद्र सरकार की योजना बिहार में हवाई क्रांति लाने की है. इसके लिए केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने सीएम नीतीश कुमार को पत्र लिखकर उनसे व्यक्तिगत हस्तक्षेप करने की अपील की है. नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने राज्य सरकार से जमीन आवंटन और ढांचागत विकास के लिए जरूरी फंड जमा करने की बात कही है. साथ ही सीएम नीतीश कुमार से अपील की है कि वो इसके लिए अधिकारियों को जरूरी दिशा निर्देश दें.

Also read: बिहार में गर्मी से मिलेगी राहत, इस दिन होगी मॉनसून की वापसी

Also read: बिहार के 20 जिलों में तेज बारिश की संभावना, जाने अपने जिले का मौसम

5 एयरपोर्ट को डेवलप करने की योजना : आपको बता दे की इस पत्र में केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने बिहार में एविएशन इंफ्रास्ट्रक्चर को मजबूत करने की बात कही है. पत्र के अनुसार बिहार में पटना एयरपोर्ट, रक्सौल, पूर्णिया, मुजफ्फरपुर और दरभंगा एयरपोर्ट को डेवलप करने का जिक्र है. इन पांचों एयरपोर्ट के विस्तार के लिए अगले 4-5 सालों में लगभग 20 हजार करोड़ खर्च करने की योजना है. एविएशन एक्सपर्ट इसे बिहार सरकार के लिए एक बड़ा मौका मान रहे हैं.

पांचों एयरपोर्ट पर होगा इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट : जानकारी के अनुसार इन 5 एयरपोर्ट्स के विकास के लिए कई तकनीकी जरूरतें हैं. नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने सीएम नीतीश कुमार को लिखे पत्र में इनका विस्तार से जिक्र किया है. पटना एयरपोर्ट पर रनवे एक्सटेंशन के लिए 49.5 एकड़ जमीन की बात कही गई है. पटना एयरपोर्ट पर टैक्सी ट्रैक, आइसोलेशन बे, ग्लाइड पाथ और DVOR उपकरण समेत कई योजनाओं का प्रस्ताव दिया गया है. रक्सौल एयरपोर्ट के विकास के लिए 121 एकड़ जमीन की ज़रूरत बताई गई है. रक्सौल में ATR-72 टाइप के विमानों के लिए हवाई अड्डे को विकसित किए जाने की योजना है.

पूर्णिया एयरपोर्ट के विकास के लिए 50 एकड़ ज़मीन की आवश्यकता है. योजना के तहत पूर्णिया एयरपोर्ट पर न्यू सिविल एन्क्लेव विकसित किया जाएगा. मुजफ्फरपुर एयरपोर्ट पर 475 एकड़ जमीन की जरूरत है. योजना के तहत मुजफ्फरपुर एयरपोर्ट को A-320 एयरक्राफ्ट के लिए विकसित किया जाएगा. दरभंगा में 78 एकड़ जमीन की जरूरत है जिसका इस्तेमाल सिविल एन्क्लेव और CAT-1 अप्रोच लाइट सिस्टम के लिए किया जाएगा.

Raushan Kumar is known for his fearless and bold journalism. Along with this, Raushan Kumar is also the Editor in Chief of apanabihar.com. Who has been contributing in the field of journalism for almost 4 years.