apanabihar.com 20

शिकॉगो एक्सचेंज में गिरावट के बीच दिल्ली तेल-तिलहन बाजार में गुरुवार को लगभग सभी तेल-तिलहनों के भाव में नरमी रही। आगरा में मिलों द्वारा सरसों की कीमत 100 रुपये बढ़ाये जाने से सरसों तेल तिलहन के भाव पूर्वस्तर पर बने रहे। खास बात यह है की इंदौर के संयोगितागंज अनाज मंडी में चना कांटा 50 रुपये, तुअर (अरहर) 100 रुपये और मूंग के भाव में 100 रुपये प्रति क्विंटल की तेजी आयी। मसूर 25 रुपये प्रति क्विंटल सस्ती बिकी।

बताया जा रहा है की मांग कमजोर होने की वजह से देश के अलग-अलग जगहों पर तेल-तिलहन बाजार में बुधवार को सरसों तेल-तिलहन और सोयाबीन तिलहन के भाव कमजोर रहे, जबकि मलेशिया एक्सचेंज में मजबूती का रुख होने के कारण सीपीओ और पामोलीन तेल की कीमतों में सुधार आया। बाकी तेल तिलहनों के भाव पूर्वस्तर पर ही बने रहे। वहीं, इंदौर के संयोगिता गंज अनाज मंडी में सोमवार को चना कांटा 50 रुपये, मसूर 50 रुपये और मूंग के भाव में 100 रुपये प्रति क्विंटल की तेजी रही।

Also read: सोने का भाव बढ़ा, चांदी में गिरावट, जाने सोमवार को क्या है रेट

Also read: BSNL का 107 रुपये वाला प्लान चलेगा 35 दिन तक, मिलेगा डेटा भी

कीमतों के और घटने की आस : आपको बता दे की केन्द्रीय खाद्य सचिव, सुधांशु पांडेय ने कहा कि भारत में सरकार के हस्तक्षेप के बाद खाद्य तेल की कीमतें लगातार नीचे आ रही हैं और रबी सत्र की सरसों की बेहतर फसल आने के बाद कीमतों के और घटने की उम्मीद है। केन्द्रीय खाद्य सचिव, सुधांशु पांडेय ने कहा कि सरकार ने खाद्य तेलों के मामले में आयात शुल्क घटाकर लगभग शून्य कर दिया है और इसने (खुदरा) कीमतों में बहुत महत्वपूर्ण कमी दिखाई है। सरकार द्वारा विभिन्न अंशधारकों के साथ कई बैठकें करने के बाद खुदरा खाद्य तेल की कीमतों में 15 से 20 प्रतिशत की कमी आई है।

सरसों तिलहन के भाव में 100 रुपये की वृद्धि : जानकारी के अनुसार बड़े मिल आगरा में बीपी आयल मिल ने सरसों तिलहन के भाव में 100 रुपये की वृद्धि की। इससे बाकी स्थानों पर भी सरसों मांग रही और इस वजह से सरसों तेल तिलहन के भाव पूर्वस्तर पर ही बंद हुए। फरवरी आखिरी सप्ताह या मार्च पहले सप्ताह तक सरसों की अगली फसल आने तथा खेती के रकबे में वृद्धि को देखते हुए सरसों का उत्पादन में भारी वृद्धि की उम्मीद है।

मंडी में थोक भाव इस प्रकार रहे-  (भाव- रुपये प्रति क्विंटल)

  •      सरसों तिलहन – 8,060 – 8,090  (42 प्रतिशत कंडीशन का भाव) रुपये।
  •      मूंगफली – 5,725 –  5,810 रुपये।
  •      मूंगफली तेल मिल डिलिवरी (गुजरात) – 12,700 रुपये।
  •      मूंगफली साल्वेंट रिफाइंड तेल 1,860 – 1,985 रुपये प्रति टिन।
  •      सरसों तेल दादरी- 16,100 रुपये प्रति क्विंटल।
  •      सरसों पक्की घानी- 2,410 -2,535 रुपये प्रति टिन।
  •      सरसों कच्ची घानी- 2,590 – 2,705 रुपये प्रति टिन।
  •      तिल तेल मिल डिलिवरी – 16,700 – 18,200 रुपये।
  •      सोयाबीन तेल मिल डिलिवरी दिल्ली- 12,820 रुपये।
  •      सोयाबीन मिल डिलिवरी इंदौर- 12,460 रुपये।
  •      सोयाबीन तेल डीगम, कांडला- 11,450
  •      सीपीओ एक्स-कांडला- 10,800 रुपये।
  •      बिनौला मिल डिलिवरी (हरियाणा)- 11,450 रुपये।
  •      पामोलिन आरबीडी, दिल्ली-  12,150 रुपये।
  •      पामोलिन एक्स- कांडला- 11,100  (बिना जीएसटी के)।
  •      सोयाबीन दाना 6,500 – 6,550, सोयाबीन लूज 6,300 – 6,350 रुपये।
  •      मक्का खल (सरिस्का) 3,850 रुपये।

Raushan Kumar is known for his fearless and bold journalism. Along with this, Raushan Kumar is also the Editor in Chief of apanabihar.com. Who has been contributing in the field of journalism for almost 4 years.